एमएसएमई

प्रस्‍तुतीकरण हेतु ऑनलाइन सुविधा और आवेदन की प्रगति की ई-ट्रैकिंग

यह ऑनलाइन एमएसई ऋण आवेदन और ई-ट्रैकिंग प्रणाली विजया बैंक के एमएसई क्षेत्र के ग्राहक/ भावी ग्राहक को आवेदन करने हेतु और ऋण प्रसंस्‍करण के विभिन्‍न स्‍तरों में अपने एमएसई ऋण आवेदन की स्थिति को ई-ट्रैक करने हेतु अनुमति देगा.  तथापि, यह नोट किया जाना चाहिए कि एमएसई ऋण को ऑनलाइन आवेदन करने पर बैंक की ओर से ऋण की मंजूरी करने की प्रतिबद्धता नहीं है. 

ऑनलाइन में आवेदन करने के बाद, आवेदक को शाखा द्वारा मांगी गई किसी भी अन्‍य जानकारी तथा आवश्‍यक दस्‍तावेजों के साथ पहचान की गई शाखा का दौरा करना चाहिए.

एमएसएमई अग्रिमों के लिए लागू ब्‍याज की दर

सूक्ष्‍म मद्यम और लघु उद्यम  (एमएसएमई)

(क) 

सूक्ष्‍म विनिर्माण उद्यम

 
1

रु. 50,000/- सहित व तक के लिए ऋण

1 वर्ष
मसीएलआर+1.35% =  10.00%  
2

रु.50,000/- से अधिक तक व रु. 2.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+1.85% =  10.50%  
3

रु.2.00/- लाख से अधिक तक व रु. 25.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+2.60% =  11.25%  
4

रु.25.00/- लाख से अधिक तक व रु. 50.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+2.85% =  11.50%  
5

रु. 50.00/-लाख से अधिक

1 वर्ष
मसीएलआर+3.60% =  12.25%  

सूक्ष्‍म सेवा उद्यम

 
1

रु. 50,000/- सहित व तक के लिए ऋण

1 वर्ष
मसीएलआर+1.85% =  10.50%  
2

रु.50,000/- से अधिक तक व रु. 2.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+2.35% =  11.00%  
3

रु.2.00/- लाख से अधिक तक व रु. 25.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+2.85% =  11.50%  
4

रु. 25.00/-लाख से अधिक

1 वर्ष
मसीएलआर+3.60% =  12.25%  
 
 

लघु विनिर्माण उद्यम

 
1

रु. 50,000/- सहित व तक के लिए ऋण

1 वर्ष
मसीएलआर+2.10% =  10.75%  
2

रु.50,000/- से अधिक तक व रु. 2.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+2.60% =  11.25%  
3

रु.2.00/- लाख से अधिक तक व रु. 25.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+3.35% =  12.00%  
4

रु.25.00/- लाख से अधिक तक व रु. 50.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+3.60% =  12.25%  
5

रु.50.00/- लाख से अधिक तक व रु. 1.00/-करोड  सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+3.85% =  12.50%  
6

रु. 1.00 करोड से अधिक

1 वर्ष
मसीएलआर+4.35% =  13.00%  
लघु सेवा उद्यम
 
1

रु. 50,000/- सहित व तक के लिए ऋण

1 वर्ष
मसीएलआर+2.60% =  11.25%  
2

रु.50,000/- से अधिक तक व रु. 2.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+3.10% =  11.75%  
3

रु.2.00/- लाख से अधिक तक व रु. 25.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+3.85% =  12.50%  
4

रु.25.00/- लाख से अधिक तक व रु. 50.00/-लाख सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+4.35% =  13.00%  
5

रु. 50.00 लाख से अधिक

1 वर्ष
मसीएलआर+4.60% =  13.25%  
ड़

मद्यम विनिर्माण और सेवा उद्यम

 
1

रु. 1.00/- करोड सहित व तक के लिए ऋण

1 वर्ष
मसीएलआर+4.35% = 13.00%  
2

रु.1.00/- करोड से अधिक तक व रु. 5.00/- करोड सहित

1 वर्ष
मसीएलआर+4.60% =  13.25%  
3

रु. 5.00 करोड से अधिक

1 वर्ष
मसीएलआर+4.85% =  13.50%  
 

सूक्ष्‍म, मध्‍यम व लघु उद्यम (एमएसएमई) के लिए उधार देने से संबंधित मुख्‍य विशेषताएं :

  1. सूक्ष्‍म मध्‍यम व लघु उद्यम विकास (एमएसएमईडी) अधिनियम,2006 : एमएसएमईडी अधिनियम 2006 जो 02.10.2006 में प्रभाव में आया है और सूक्ष्‍म, मध्‍यम व लघु उद्यम की परिभाषा करता है .  अधिनियम के अनुसार, विनिर्माण और सेवा श्रेणी में गतिविधियों का वर्गीकरण किया है.  सूक्ष्‍म मध्‍यम और लघु उद्यम मंत्रालय के पत्र सं. एस.ओ.1642ई दि. 9 सितम्‍बर, 2006 द्वारा अनुसूचित के अनुसार संयंत्र और मशीनरी /उपकरण में निवेश हेतु सीमा निम्‍नप्रकार है :
विनिर्माण क्षेत्र
उद्यम

संयंत्र और मशीनरी में निवेश

सूक्ष्‍म उद्यम

रु. 25.00 लाख से अधिक न हो  

मध्‍यम उद्यम

रु. 25.00 लाख से अधिक मगर रु. 5.00 करोड से अधिक न हो   

लघु उद्यम

रु. 5.00 करोड से अधिक मगर रु. 10.00 करोड से अधिक न हो   

सेवा क्षेत्र
उद्यम
उपकरण में निवेश
सूक्ष्‍म उद्यम

रु. 10.00 लाख से अधिक न हो  

मध्‍यम उद्यम

रु. 10.00 लाख से अधिक मगर रु. 2.00 करोड से अधिक न हो   

लघु उद्यम

रु. 2.00 करोड से अधिक मगर रु. 5.00 करोड से अधिक न हो   

  1. माजिन मानदंड

भा.रि. बैंक के निर्देशों के अनुसार बैंक द्वारा पालन किए जानेवाले सुरक्षा मानदण्‍ड निम्‍नप्रकार है :

क्र सं
ऋण की राशि
माजिन मानदण्‍ड
1
रु. 25,000/- तक
माजिन नहीं है
2
रु. 25,000/- से अधिक
15% से 25% तक
  1. एमएसई ऋण के लिए सुरक्षा मानदण्‍ड भा.रि. बैंक के निर्देशों के अनुसार बैंक द्वारा पालन किए जानेवाले सुरक्षा मानदण्‍ड निम्‍नप्रकार है :
क्र सं
ऋण की राशि
सुरक्षा मानदण्‍ड
1
रु. 10.00 लाख  तक

संपार्श्विक प्रतिभूति नहीं है मगर सीजीटीएमएसई गारंटी के कवरेज के साथ

2

रु. 10.00 लाख से अधिक और रु. 10.00 लाख तक

सीजीटीएमएसई के अंतर्गत कवर किए जाने पर इकाई का अच्‍छा ट्रैक रिकार्ड / वित्‍तीय के अधीन संपार्श्विक प्रतिभूति नहीं है. 

3

रु. 10.00 लाख से अधिक

प्राप्‍त उपयुक्‍त संपार्श्विक प्रतिभूति और / या तीसरी पार्टी गारंटी

  1. सूक्ष्‍म और मध्‍यम इकाइयों (एमएसई) के लिए निष्‍पादन और क्रेडिट रेटिंग येाजना

सूक्ष्‍म और मध्‍यम इकाइयों (एमएसई) के लिए निष्‍पादन और क्रेडिट रेटिंग येाजना से संबंधित विवरण के लिए यहां क्लिक करें. 

  1. बैंक  ग्रामीण रोजगार निर्माण योजना (पीजीएईजीपी योजना), क्रेडिट लिंक्‍ड  कैपिटल सब्सिडी योजना, तकनीकी उन्‍नयन निधि योजना का भी क्रियान्‍वयन किया जा रहा है. 

बैंक की ओटीएस योजना

विजया अदालत का आयोजन करते हुए एकबारगी समझौता (ओटीएस) के जरिए एयूसी खाते  तथा एनपीए में वसूली को बढावा देने के लिए विजया अदालत के जरिए वसूली एक विशेष गति है और यह 01.06.2006 से प्रारंभ किया गया है.   

योजना के तहत, शाखाओं और क्षेत्रीय कार्यालयों या शाखा समूह द्वारा अधिक्‍ संख्‍या में उधारकर्ताओं  को कवर करते हुए विजया अदालत का आयोजन करते समय उधारकर्ताओं को बातचीत से निपनाने हेतु लाया जाएगा और वहीं खातों को निपटाया जाएगा.

हर एक क्षेत्रीय कार्यालय का प्रयास होगा कि अपने क्षेत्राधीन आनेवाली शाखाओं को इस विशेष गति में अधिक संख्‍या में भाग लेने के लिए सुनिश्चित करना है.  विजया अदालत के लिए तय किए गए दिनांक को ऋण (स व व) विभाग, प्र.का को अग्रिम में सूचित किया जाना चाहिए कि प्रधान कार्यालय से कार्यपालकों की सहभागिता सक्षम बना सके. 

क्षेत्रीय कार्यालय तार्किक निष्‍कर्ष तक पात्र खातों को लाने में उचित कदम उठाए है का सुनिश्चित करने के लिए शाखाओं द्वारा किए गए अनुवर्तन की देखरेख करेगा.   क्षेत्रीय कार्यालय,सुचारू रूप से आयोजन हेतु स्‍थान तथा दिनांक को तय करने से पहले नोडल अधिकारी को शाखाओं की मदद के लिए तैनात करेगा. शाखा / क्षेत्रीय कार्यालयों को घटना के बारे में स्‍थानीय क्षेत्र / प्रेस विज्ञप्ति / इलेक्‍ट्रानिक मीडिया में प्रकाशन में व्‍यापक प्रचार दिया जाना चाहिए.  क्षेत्रीय प्रबंधक्‍ या उनकी अनुपस्थिति में एक कार्यपालक जिनके पास प्रत्‍यायोजित वित्‍तीय अधिकार है वे निरपवाद रूप से विजया अदालत में भाग लेना चाहिए.

इस फोरम में निपटाने हेतु अपने प्रत्‍यायोजित अधिकारों के अंदर आनेवाले मामले से बचना चाहिए और आगंतुक कार्यपालक के प्रत्‍यायोजित अधिकारों के अंदर ही मामलों को बेहतर तरीके से निपटाना चाहिए.    

कपडा और जूट उद्योग के लिए तकनीकी उन्‍नयन निधि योजना :

कपडा और जूट उद्योग के लिए तकनीकी उन्‍नयन निधि योजना का क्रियान्‍वयन के लिए हमारे बैंक को नोडल शाखा के रूप में नामित किया है.  यह योजना कपडा और जूट उद्योग में प्रौद्योगिकी के बेंचमार्क स्‍तर के साथ नई इकाई की स्‍थापना के लिए और मौजूदा इकाई का विस्‍तरण / आ‍धुनिकीकरण के लिए उपलब्‍ध है.  योजना का वर्तमान ढांचा 01.04.2012 से 31.03.2017 तक आरआर-टीयूएफ है.  यह योजना ब्‍याज की प्रतिपूर्ति /पूंजी सब्सिडी / संस्‍थापित पात्र मशीनरी के आधार पर माजिन मनि सब्सिडी प्रदान करती है. इस योजना के अंतर्गत  दि. 01.04.2012 के बाद मंजूर किए गए ऋण ही पात्र है.  आवेदन को ऋण मंजूरी दिनांक से एक साल के अंदर ही एमओटी को प्रस्‍तुत किया जाना चाहिए. 

पात्रता निर्धारण के लिए मशीनरी और प्रमाणपत्र की सूची www.txcindia.gov.in. में उपलब्‍ध है.निम्‍नलिखित गतिविधियों को कवर करनेवाले टीयूएफएस  बेचमार्कड मशीनरी के लिए लाभ उपलब्‍ध है. 
  • कपास ओटाई और दाब
  • रेशम चपेट और घुमा
  • दस्‍त ऊन, तलाशी और कालीन उद्योग
  • सिंथेटिक फिलमेंट यार्न टक्‍चरिंग,क्रिम्पिंग एण्‍ड ट्विस्टिंग
  • कताई
  • विस्‍कोस स्‍टैपल फाइबर (वीएसएफ) और विस्‍कोस फिलमेंटयार्न (वीएफवाई)
  • बुनाई, निट्टिंग  और  कपडे की कढाई
  • गैर बुनाई सहित तकनीकी वस्‍त
  • गार्मेंट / डिजाइन स्‍टुडियो / बनाया गया विनिर्माण
  • फाइबर, यार्न, फैब्रिक्‍स, गार्मेंट और बनाया गया का प्रोसेसिंग
  • जूट उद्योग की उत्‍पादन गतिविधियां

पात्रता मापदंड निर्धारण के लिए प्रमाणपत्र से संबंधित संक्ष्पित विवरण :

  • आरआर 1 –परियोजना की पात्रता के लिए परीक्षा हेतु प्रोफार्मा / ब्‍याज के लिए मीयादी ऋण / नोडल एजेन्‍सी के लिए संशोधित पुन:संरचित टीयूएफएस के अंतर्गत मार्जिन मनि सब्सिडी
  • आरआर 2 – वास्‍तविक टीयूएफएस – परियोजना के अंतर्गत प्रस्‍तावित उपकरण /  संयंत्र और मशीनरी से संबंधित विवरण प्रस्‍तुत करने के लिए प्रोफार्मा
  • आरआर 5, आरआर 6, आरआर 7, आरआर 8 – विभिन्‍न क्षेत्र के अंतर्गत  पूंजी सब्सिडी के 10% के रूप में अतिरिक्‍त प्रोत्‍साहन के लिए पात्रता अनुमोदन प्राप्‍त करने के लिए
  • तकनीकी वस्‍त्र इकाई पूंजी सब्सिडी का 10% लाभ उठाने के लिए कपडा आयुक्‍त कार्यालयसे पंजीकरण नंबर प्राप्‍त करना होगा. 
  • आयातित पुराना मशीनरी के मामले में, निर्यात देश के चार्टर्ड इंजीनियर से एक प्रमाणपत्र विधिवत निर्यात देश में एक भारतीय दूतावास / वाणिज्‍य दूतावास द्वारा प्रतिहस्‍ताक्षरित के साथ विंटैज और अवशिष्‍ट जीवन को प्रमाणित करते हुए इकाई द्वारा प्रस्‍तुत किया जाना चाहिए. 
ग्राहकों से प्रतिसूचना
एमएसएमई के लिए शिकायत निवारण तंत्र

dgmcreditretail@vijayabank.co.in को मेल करें

एमएसएमई शिकायत और प्रश्‍न के लिए बैंक के नोडल अधिकारी का नाम

श्री ए बी मगदम

सहायक महा प्रबंधक

ऋण –खुदरा व एमएसएमई

ई-मेल पता : agmcreditretail@vijayabank.co.in   

 एमएसएमई ऋण हेतु आवेदन के लिए यहां क्लिक करें

एमएसएमई समूह

विशेषीकृत एमएसएमई शाखाएं

स्‍वयं रोजगार प्रशिक्षण संस्‍था

एमएसएमई तिमाही डाटा

रुग्‍ण एमएसई इकाईयों के पुनर्वास

 

रुग्‍ण एमएसई इकाईयों के पुनर्वास (कर्नाटक राज्‍य के लिए) 

 

प्रदर्शन