वी रेस्तरां

 

पात्रता
  • संतोषजनक ट्रैक रिकार्ड रखनेवाले मौजूदा ग्राहक.
  • योग्‍यता के आधार पर किसी दूसरे से ऋण लेना सहित नए ग्राहक.
  • उचित स्‍थानीय प्राधिकारियों से लिए जानेवाले लाईसेंस.
उधारकर्ता का संगठन
एकल व्‍यक्ति / संपूर्ण्‍ स्‍वार्मित्‍व / भागीदारी तथा कंपनी (निजी/ सार्वजनिक लि) या इस प्रकार के कारोबार की कोई अन्‍य इकाई.
 
उद्देश्‍य
1.      मीयादी ऋण:
  • रसोई उपकरण की खरीद के लिए.
  • फर्नीचर व जुडनार की खरीद के लिए.
  • रेस्‍तरां के निर्माण के लिए वाणिज्‍य सं‍पत्ति का अर्जन या मौजूदा इकाई का आधूनिकीकरण.
  • भूमि की खरीद तथा उसपर रेस्‍तरां का निर्माण के लिए For purchase of land and construction of restaurant thereon.
  • अंदरूनी साज सज्‍जा के लिए
2.     कार्यकारी पूंजी :
  • कार्यकारी पूंजी आवश्‍यकताओं के लिए.
सुविधाओं का स्‍वरूप
 
मीयादी ऋण /कार्यकारी पूंजी सीमा/ सम्मिश्र ऋण.
 
ऋण की मात्रा
 
रु.100 लाख .
 
मार्जिन
  • रसोई उपकरण, फर्नीचर व जुडनार आदि की खरीद के लिए 25%.
  • परिसर का अर्जन व /या मौजूदा परिसार का विस्‍तारण/ नवीकरण तथा अंदरूनी सजावट के लिए 35%.
प्रतिभूति
 
प्राथमिक प्रतिभूति
  • आस्तियों का दृष्टिबंधन मौजूदा तथा बैंक वित्‍त से अर्जित.
  • बैंक वित्‍त से खरीदी गयी संपत्ति का बंधक.
संपर्श्विक प्रतिभूति:
  • यदि ऋण सीजीटीएमएसई के अधीन प्रावरित हो तो रु 10.00 लाख तक के ऋणों के लिए गारंटी / संपार्श्विक की आवश्यकता नहीं, नहीं तो बंधक ऋण के अलावा  (अर्थात परिसर के अर्जन के लिए कोई संपार्श्विक प्रतिभूति नहीं), ऋण राशि के 125% मल्‍य की संपार्श्विक प्रतिभूति (रेस्‍तरां खोलने के लिए परिसर क अर्जन हेतु 35% मार्जिन सहित ऋणों की मंजूरी) ली जाए.
  •  रु 10.00 लाख के ऊपर के ऋणों के लिए बंधक ऋण के अलावा (अर्थात परिसर के अर्जन के लिए कोई संपार्श्विक प्रतिभूति नहीं) ऋण राशि के 125% मल्‍य की संपार्श्विक प्रतिभूति (रेस्‍तरां खोलने के लिए परिसर क अर्जन हेतु 35% मार्जिन सहित ऋणों की मंजूरी) ली जाए

ग्रारंटी

भागीदार / प्रोमोटर की व्‍यक्तिगत गारंटी ली जाए.
 
सीजीटीएमएसई
  • जहां कहीं संपार्श्वित प्रतिभूति नहीं दी जाती है वहां रु 10 लाख तक के ऋणों के लिए सीजीटीएमएसई के अधीन प्रावरण अनिवार्य है.  
  • सीजीटीएमएई गारंटी का प्रीमियम तथा वार्षिक शुल्‍क उधारकर्ता द्वारा वहन किया जाए.  
  • सीजीटीएमएसई योजना के अधीन गारंटी प्रावरण, समय समय सूचितानुसार योजना में निर्धारित शर्तों, पात्रता मानदंड, तथा प्रीमियम के अनुसार होगा (प्रकाप 12051 दिनांक 16.03.2012)
ऋण मूल्‍यांकन
 
i) कार्यकारी पूंजी के लिए
क) कार्यकारी पूंजी सीमा के लिए, स्‍वीकृत प्रक्षेपित पण्‍यावर्त का 20% पात्र है.                                       
ii) मीयादी ऋण के लिए  ( महीनों के अंदर चुकाया जाएगा)
क)  रसोई उपकरण, फर्नीचर व जुडनार आदि की खरीद के लिए आस्ति का  75%.
ख)  परिसर का अर्जन व /या मौजूदा परिसार का विस्‍तारण/ नवीकरण तथा अंदरूनी सजावट के लिए  65%.
 
बीमा
 
प्रतिभूति के रूप में बैंक को प्रभारित संप‍त्तियों व आस्तियों को बैंक के नाम के अधीन बीमा कराया जाएगा जिसे उधारकर्ता द्वारा वहन किया जाएगा.
 
ब्‍याज दर
 
आधार दर + 2.05%=12.50% प्र.व.( अस्थिर)
 
प्रसंस्‍करण प्रभार
 
प्रसंस्‍करण तथा अन्‍य प्रभार प्रधान कार्यालय परपित्र के अनुसार.
 
चुकौती
  • कार्यकारी पूंजी सीमा –  प्रत्‍येक वर्ष नवीकरण किया जाए.
  • मीयादी ऋण  – चुकौती की अधिकतम अवधि – 84 महीने.
मंजूरी प्राधिकारी
शक्तियों के प्रत्‍यायोजन प्रका प 172/2009 के अनुरुप
 
केवाईसी अनुपालन
शाखा द्वारा केवाईसी दिशानिर्देशों का कड़ाई से अनुपालन किया जाए तथा ऋणों की मंजूरी से पहले उचित सावधानी बरती जाए.
ऋृण आवेदन पत्रों का निपटान
  • आवेदक से प्राप्‍त ऋण आवेदन पत्रों को 30 दिनों के अंदर निपटाया जाए.  
  • यदि प्राप्‍त आवेनद ऋण के लिए पात्र नहीं हैं तो शिकायतों से बचने के लिए उसे शीघ्र ही सूचित किया जाए  

सामान्‍य शर्तें

  • ऋण की मंजूरी से पहले सिबिल की जांच की जाए.
  • कार्यकारी पूंजी सीमा का वर्ष में एक बार नवीकरण किया जाए.  
  • कंपनियों द्वारा लिए गए ऋणों के मामले में आरओसी के साथ प्रभार का सृजन किया जाए. .
  • रिक्‍त भूमि को संपार्श्विक प्रतिभूति के रूप में न स्‍वीकारा जाए. .
अन्‍य शर्तें
  • योजना के प्रावधानों के संबंध में स्‍प्‍ष्‍टीकरण देने के लिए महा प्रबंधक, ऋण (खुदरा व एमएसएमई) सक्षम प्राधिकारी है.
  • योजना के दिशानिर्देशों में छूट /विचलन तथा संशोधन का अनुमोदन हेतु अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सक्षम प्राधिकारी हैं.
प्रदर्शन