शिक्षा ऋण

 

शिक्षा ऋण के लिए व्याज उपदान का केन्द्रीय योजना
 
आर्थिक रूप से पिछडे वर्ग के विद्यार्थियों को सहायता करने की शुरुआत
भारत सरकार की प्रमुख चिंता यह सुनिश्चित करना कि कोई भी गरीब विद्यार्थी को व्यवसायिक शिक्षा देने से नकारा नहीं जाता है. सभी बैंकों के द्वारा अपनाए जाने के उद्देश्य से भारतीय बैंक संघ (आईबीए) ने एक विस्तृत नमूना शैक्षिक ऋण योजना बनाया है. समाज के आर्थिक रूप से पिछडे वर्ग के विद्यार्थियों को सहारा देने के क्रम में, शिक्षा विभाग, मानव संसाधन मंत्रालय, भारत सरकार ने यह व्याज उपदान योजना शुरू किया है.
पात्रता
1. कक्षा XII के बाद भारत के मान्यता प्राप्त संस्था में आईबीए शैक्षिक ऋण योजना के तहत अनुमोदित किसी भी तकनीकी या व्यवसायिक पाठ्यक्रम के लिए केवल अनुसूचित बैंकों से प्राप्त शैक्षिक ऋण के लिए.
2. आर्थिक रूप से पिछडे विद्यार्थी जिनके माता-पिता/परिवार का हर तरह से कुल वार्षिक आय रु.0.50 लाख से अधिक का न हो. राज्य सरकार के प्राधिकृत अधिकारी द्वारा जारी इस आशय का प्रमाणपत्र प्रस्तुत की जानी होगी.
3. विराम अवधि यानि पाठअयक्रम की अवधि के साथ 1 वर्ष या 6 महिनों के बाद नौकरी मिलने के बाद जो पहले आए के लिए पूरी व्याज उपदान मिलेगी।
4. यह योजना अप्रैल 01, 2009 से मार्च 31, 2010 (अकादमी वर्ष 2009-10) तक ली गई ऋण पर लागू होगी.
5. 1.04.2009 से पहले मंजूर की गई ऋण के लिए, केवल उक्त अवधि के दौरान संवितरित राशि ही पात्र होगी.

पात्र पाठ्यक्रम
भारत में अध्‍ययन :
·          स्‍नातक पाठ्यक्रम बी.ए, बी.कॉम, बी.एससी., आदि
·          स्‍नातकोत्‍तर पाठ्यक्रम : मास्‍टर्स और पीएचडी
·          व्यवसायिक पाठ्यक्रम, इंजीनियरिंग, चिकित्‍सा, कृषि, पशुचिकित्‍सा, कानून, दंतचिकित्‍सा, प्रबंधन, कंप्यूटर शिक्षा आदि.
·          एनिमेशन/कार्टूनिंग/मल्टिमीडिया/ग्रॉफिक डिज़ाइनिंग, आदि जहां पाठ्यक्रम अवधि 1 वर्ष तथा उससे अधिक हो और पाठ्यक्रम प्रसिद्ध संस्‍थाओं द्वारा चलाया जाता हो औरसंस्‍था निम्‍न लिखित में से एक मानदंड को पूरा करती हो :
o    एनएएसएससीओएम रेटेड/प्रमाणित
o    एआईसीटीई संबद्ध
o    भारत में किसी भी यूजीसी संबंद्धित विश्‍वविद्यालय से अधिकृत
o    प्रसिद्ध विदेशी विश्वविद्यालयों से संवंद्धित
·         इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स विभाग से मान्‍यता प्राप्‍त प्रतिष्ठितसंस्‍थानों अथवा विश्‍वविद्यालयों से जुडे हुए संस्‍थान के कंप्‍यूटर प्रमाणपत्रपाठ्यक्रम.
·         आईसीडब्‍ल्‍यूए, सीए, सीएफए आदि जैसे पाठ्यक्रम.
·         आईआईएम, आईआईटी, आईआईएससी, एक्‍सएलआरआई, एनआईएफटी आदि द्वाराचलाए गए पाठ्यक्रम.
·         पाइलेट प्रशिक्षण कार्यक्रम (निदेशक महा प्रबंधक, नागरिक विमानन, भारत सरकारद्वारा अनुमोदित सरकारी अथवा मान्‍यता प्राप्‍त प्राइवेट संस्‍था)
·         भारत में प्रसिद्ध विदेशी विश्‍वविद्यालय द्वारा चलाए जानेवाले पाठ्यक्रम
·         अनुमोदित संस्‍थानों के संध्या कालीन पाठ्यक्रम.
·         ऐसे पाठ्यक्रम जिससे यूजीसी/सरकार/एआईसीटीई/एआईबीएमएस/आईसीएमआरआदि द्वाराअनुमोदित कॉलेजों/विश्‍वविद्यालयों के डिप्‍लोमा/डिग्री आदि हासिल हों.
·         राष्‍ट्रीय संस्‍थानोंऔर अन्‍य प्रतिष्ठित निजी संस्‍थाओं द्वारा चलाए गएपाठ्यक्रम. बैंक दूरदृष्टि और प्रयोक्ता संस्थाओं द्वारा मान्यता पर निर्भर अन्य संस्था के पाठ्यक्रमों का मूल्यांकन करने की प्रणाली भी अपना सकता है.

विदेश मेंअध्‍ययन
·         स्‍नातक: प्रतिष्ठित विश्‍वविद्यालाय के व्‍यवसायोन्‍मुखपेशेवर/तकनीकीपाठ्यक्रम.
·         स्‍नातकोत्‍तर: एमसीए, एमबीए, एमएस आदि.
·         सीआईएमए-लंदन, अमेरिका में सीपीए आदि द्वारा चलाए गए पाठ्यक्रम.
·         विदेशों में सक्षम प्राधिकारी से मान्‍यता प्राप्‍त संस्‍थानों द्वारा चलाएजानेवाला पाइलेट प्रशिक्षण कार्यक्रम. उदाहरणार्थ यूएसए में फेडरल एविएशनएडमिनिस्‍ट्रेशन, यूएसए सरकार..
निदेशक महा प्रबंधक, नागरिक विमानन, भारत सरकार के निदेशानुसार ऐसे संस्‍थानोंद्वारा जारी लाइसेंस तत्‍संबंधी भारतीय लाइसेंस में परिवर्तित होनेवाले होने चाहिएयदि आवेदक विदेश में पाठ्यक्रम/प्रशिक्षण समाप्ति के पश्‍चात भारत में रोजगार काइच्‍छुक हो.
1.     ऋण के लिए पात्र खर्च
संस्‍था / होस्टल को देय शुल्‍क
2.     परीक्षा, पुस्तकालय, प्रयोगशाला शुल्‍क
3.     पुस्तकों, उपकरण, औजार, वर्दी की खरीदी
4.     संस्था द्वारा दी जाने योग्य जमानती धन, भवन निधि, धन वापसी जमा बिल या रशीद
5.     विदेश में अध्‍य यन के लिए यात्रा खर्च
6.     कंप्‍यूटर कीखरीदारीआदि.पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए आवश्‍यक
7.     अन्‍य खर्च जैसे शिक्षा द्वारा, प्रॉजेक्‍ट कार्य, थीसेस, आदि. सीईटी कक्ष के पक्ष में मांग ड्राफ्ट जारी करना.
ऋण राशि
  • भारत में अध्‍ययन : अधिकतम 10.00 लाख रु.
  • विदेश में अध्‍ययन : अधिकतम 20.00 लाख रु.
ब्‍याज दर
बीपीएलआर - 1.25 प्र.व. (अस्थिर)
विद्यार्थिनियों के लिएरियायत: दिनांक 01.11.2008 या उसके बाद ग्रहणकिए गए ऋणों के लिए विद्यार्थिनियोंकोहमारे बैंक ने0.50प्रतिशत की रियायत प्रदानकिया हैं और यहदिनांक31.12.2010तक लागूरहेगा. ब्याज रायायत ऋण समाप्ती तक जारी रहेगा.
नोट : उधारकर्ताओं के लिए ब्‍याजमें 1% की छूट दी जाएगी यदि ब्‍याज की चुकौती शिक्षा अवधि के दौरान की जातीहै.
पूर्व भुगतान तथा पूर्व खाता बंद करने के लिए कोई प्रभार वसूला नहीं जाएगा.
मार्जिन
  • 4.00 लाख रु.तक - कुछ नहीं
  • 4.00 लाख रु. से अधिक
1.     भारत में अध्‍ययन : 5% #
2.     विदेश में अध्‍ययन : 15% #
# छात्रवृत्ति/असिस्‍टेंटशिप को मार्जिन में शामिल किया जाए. अनुपातिक के आधार पर जब भी वितरण किया जाता है मार्जिन के अधीन ला सकते हैं.
 
 

राशि   भारत में अध्‍ययन हेतु  विदेश में अध्‍ययन हेतु
रु.4.00 लाख तक
कोई प्रतिभूति नहीं
कोई प्रतिभूति नहीं
रु.4.00 लाख से रु.7.50 लाख तक
उचित अन्‍य पक्षकार गारंटी
उचित अन्‍य पक्षकार गारंटी
रु.7.50 लाख से रु.10.00लाख तक (भारत)/ से रु.15.00लाख तक (विदेश)
ऋण की संपूर्ण राशि के लिए मूर्त संपार्श्विक प्रतिभूति
ऋण के उचित मूल्‍य की मूर्त संपार्श्विक प्रतिभूति अथवा किश्‍तों के भुगतानहेतु छात्र की भविष्‍य आय के समनुदेशन सहित अन्‍य पक्षकार गारंटी
रु.15.00लाख से रु.20.00लाख तक
लागू नहीं
ऋण के उचित मूल्‍य की मूर्त संपार्श्विक प्रतिभूति और किश्‍तों के भुगतान हेतुछात्र की भविष्‍य आय के समनुदेशन सहित अन्‍य पक्षकारगारंटी

 चुकौती

चुकौती, पाठ्यक्रम की अवधि समाप्ति से 1 वर्ष के बाद अथवारोज़गार मिलने के 6 महीने बाद, जो भी पहले हो, शुरू हो जाएगी.

 अध्‍ययन कास्‍थान
 ऋणराशि
 चुकौती अवधि
वर्षों में
भारत में
 रु.7.50 लाख तक
 5 - 7
 रु.7.50 लाख से अधिक
 5 -10
 विदेश में
 रु.15.00 लाख तक
 5 - 7
 रु.15.00 लाख से अधिक
 5 -10

पाइलेट प्रशिक्षण कार्यक्रम के संबंध में ऋण का भुगतान, चुकौती अवधि कीशुरूआत से 5 वर्षों के अंदर किया जाएगा.
ऑनलाइन शिक्षा ऋण आवेदनों के संबंध में लागू अतिरिक्‍त शर्ते
  1. ऋण केवल व्‍यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए ही विचार किया जाएगा.
  2. आवेदक द्वारा गलत ई-मेल आईडी प्रस्‍तुत किए जाने पर बैंक द्वारा किसी भी उत्‍तरकी प्राप्ति न होने के लिए बैंक उत्‍तरदायी नहीं होगा.
  3. केवल वे ही आवेदक आवेदन करें जिनका अधिवास/स्‍थाई पता विजया बैंक की निकटतमशाखा से 10 कि.मी. की परिधि की दूरी से अधिक न हो.
  4. आवेदक को विजया बैंक के पक्ष में रु.500.00 का डीडी/पे ऑर्डर खरीदना होगा, अधिमानत: उसी शाखा से जहां से शिक्षा ऋण लिया जाना है.

ऑनलाईन शिक्षा ऋण आवेदन के लिए यहॉं क्लिक करें 

फार्म डाउनलोड करें 

 

 

प्रदर्शन