अवलोकन

                                                             कृषि बैंकिंग

 

विजया बैंक एक प्रमुख सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक है, जिसकी स्थापना वर्ष 1931 में उद्यमी किसानों के समूह द्वारा किया गया था,जो अपनी स्थापना के समय से ही किसानों और ग्रामीण उद्यमियों की ऋण की आवश्यकता पूर्ण करने में अग्रणी रहा है.  बैंक पूर्णतः यह सुनिश्चित करने में जुटा है कि शीर्ष बैंकिंग किसानों तक पहुंचे विशेषकर सुदूर गांवों में.

 

लचीले और समान तरीके से समय पर और पर्याप्त ऋण की उपलब्धता न केवल कृषि के विकास में बल्कि समग्र रूप से देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. तदनुसार,बैंक फसल उत्पादन के लिए किसानों को आवश्यकता के आधार पर ऋण उपलब्ध कराने के साथ-साथ कृषि और उससे संबद्ध गतिविधियों के लिए आवश्यक ऋण निवेश के संबंध अपने विविध किसान के अनुकूल ऋण उत्पाद उपलब्ध कराता है.  इसके अतिरिक्त, बैंक ने खाद्य और कृषि प्रसंस्करण के साथ-साथ स्व-सहायता समूह और संयुक्त देयता समूह को ऋण देने के लिए महत्वपूर्ण क्षेत्र के रूप में पहचान की है. बैंक किसानों को उनके पास तक प्रभावशाली रूप से इन उत्पादों को पहुंचाते हुए तेजी से अपनी ग्रामीण उपस्थिति बढ़ा रहे हैं.

विजया बैंक की कृषि बैंकिंग योजनाएं  :

*      विजया किसान कार्ड योजना 

*      विजया प्लांटर्स कार्ड 

*      विजया किसान तत्काल योजना  

*      विजया कृषि मित्र

*      फार्म हाउस निर्माण योजना

*      कृषि भूमि क्रय योजना   

*      बाग या भूसंपत्ति क्रय ऋण योजना   

*      माल-गोदाम रसीद के प्रति किसानों को वित्तीयन की योजना  

*      खाद्य एवं कृषि प्रसंस्करण ईकाइयों को वित्तीयन की योजना  

*      कृषि क्लिनिक और कृषि व्यापार केंद्र  

*      ग्रामीण गोदाम या शीत भंडारण की योजना  

*      रबर वृक्षारोपण के लिए वित्तीयन की योजना  

*      लघु सिंचाई के लिए सावधि ऋण  

*      भूमि विकास के लिए सावधि ऋण 

*      बागवानी विकास के लिए सावधि ऋण 

*      पशुपालन के वित्तीयन के लिए योजना 

*      आपदाग्रस्त किसानों के लिए ऋण विनिमय योजना

 *      किसानों के अलावा आपदाग्रस्त व्यक्तियों के लिए वित्तीयन की योजना   

प्रदर्शन